प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार नई संसद का भव्य तरीके से उद्घाटन किया।

0
94
news image7dcb78cfe574a2032254a74a593bab18
news image7dcb78cfe574a2032254a74a593bab18
blob:https://web.whatsapp.com/36c84f3a-b315-4bd0-96f4-ef3b180d1b66

BN बांसवाड़ा न्यूज़ – नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार नई संसद का भव्य तरीके से उद्घाटन किया।
नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह के पहले चरण की शुरुआत पूजा से हुई। इस दौरान मोदी के साथ पूजा में लोकसभा स्पीकर ओम बिरला भी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह के दौरान भवन के अंदर सेंगोल स्थापित किया।पूजा-अर्चना के बाद नई संसद को पीएम मोदी ने देश को किया समर्पित, सेंगोल को किया दंडवत प्रणाम। राजदंड यानी सेंगोल को भवन में स्थापित करने से पहले पीएम मोदी ने इसकी पूजा अर्चना की और फिर दंडवत प्रणाम किया। दोनों हाथों को जोड़े उन्होंने पवित्र ‘सेंगोल’ की अगवानी की और इसे लोकसभा कक्ष में स्पीकर की कुर्सी के ठीक बगल में स्थापित किया।समारोह की शुरुआत वैदिक रीति से पारंपरिक ‘पूजा’ के साथ हुई, जो एक घंटे तक चली। सेंगोल को स्थापित करने के बाद सर्व धर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। सभी धर्मों के धर्मगुरुओं ने बारी बारी से अपने ईष्ट से देश की खुशहाली के लिए प्रार्थनाएं कीं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए संसद भवन के उद्घाटन के बाद भवन के निर्माण में काम करने वाले श्रमिकों को सम्मानित भी किया। सर्वधर्म प्रार्थना सभा सम्पन्न होने के बाद पीएम सभी लोगों को हाथजोड़ प्रणाम किया। गौरतलब है कि पूजा संसद में गांधी प्रतिमा के पास एक पंडाल (छत) में आयोजित की गई। इस दौरान इसे डिजाइन करने वाले मूल जौहरी सहित तमिलनाडु के पुजारी मौजूद रहे।
उद्घाटन दो चरणों में सम्पन्न होगा। पहला चरण पूरा हो चुका है जबकि दूसरे चरण की शुरुआत 12 बजे के बाद होगी। दूसरे चरण में तमाम मंत्रियों, सांसद, अन्य पार्टियों के नेता, दूसरे देशों के राजदूत समेत गणमान्य लोग शिरकत करेंगे। दूसरे चरण के बाद गणमान्य लोग नए भवन में लोकसभा के कक्ष और राज्यसभा कक्ष के परिसर का निरीक्षण करेंगे। समारोह का दूसरा चरण दोपहर में पीएम मोदी सहित सभी गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में लोकसभा कक्ष में राष्ट्रगान के गायन के साथ शुरू होने की उम्मीद है।
नए संसद भवन से 888 सदस्य लोकसभा में बैठ सकेंगे। संसद के वर्तमान भवन में लोकसभा में 543 और राज्यसभा में 250 सदस्यों के बैठने का प्रावधान है। भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए संसद के नवनिर्मित भवन में लोकसभा में 888 सदस्यों और राज्य सभा में 384 सदस्यों की बैठक की व्यवस्था की गई है। दोनों सदनों का संयुक्त सत्र लोकसभा चैंबर में होगा।

https://banswaranews.in/wp-content/uploads/2022/10/1.512-new-1-scaled.jpg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here