विधायक कैलाश मीणा (गढ़ी) को बना सकते है मंत्री

0
422
BN Banswra News द्वारा प्रदत्त
BN Banswra News द्वारा प्रदत्त
blob:https://web.whatsapp.com/36c84f3a-b315-4bd0-96f4-ef3b180d1b66

BN बांसवाड़ा न्यूज – बांसवाड़ा संभाग की 11 में से 3 सीटें भाजपा ने जीती, प्रतापगढ़ के हेमंत व सागवाड़ा के शंकर लाल पहली बार जीते, तो वही दो बार जीते गढ़ी विधायक कैलाश मीणा को बना सकते हैं मंत्री जिले से बने 2 मंत्री बनाने का कांग्रेस को मिला है फायदा, इसलिए लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा बना सकती है मंत्री का दांव, मीणा सबसे भी है शंकरलाल डेचा और हेमंत मीणा पहली बार चुनाव जीते शामिल कर सकती है। हालांकि उनके पहली बार विधायक बनने के चलते फिलहाल उम्मीद कम है। डूंगरपुर जिले की सागवाड़ा विधानसभा से पहली बार जीते शंकरलाल डेचा संघ पृष्ठभूमि से आते हैं। सागवाड़ा को संभाग के केंद्र बिंदु के तौर पर देखा जा रहा है, क्योंकि यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, अशोक गहलोत सभा हुई। विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया था, जिसका फायदा कांग्रेस को भी कांग्रेस सरकार में बांसवाड़ा जिले से दो खास बात यह है कि
प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद जहां एक तरफ मुख्यमंत्री को लेकर कयास जारी हैं, दूसरी ओर मंत्रीपद की दौड़ भी शुरू हो गई है। बांसवाड़ा संभाग की बात करें तो इस बार भाजपा का अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा। संभाग की 11 सीटों में से भाजपा के खाते में केवल 3 सीटें ही आई हैं। बांसवाड़ा की पांच सीटों में केवल एक सीट गढ़ी भाजपा जीती है। इस हिसाब से लोकसभा चुनाव 2024 को ध्यान में रखते हुए इस क्षेत्र में भाजपा को मजबूत करने के लिए यहां से कैबिनेट स्तर के मंत्री बनाने के कयास लगाए जा रहे हैं। इसमें सबसे आगे गढ़ी से भाजपा विधायक कैलाशचंद्र मीणा का नाम है। क्योंकि संभाग में सबसे ज्यादा सीनियर विधायक मीणा ही हैं, जिन्होंने लगातार दूसरी बार जीत हासिल की है। इसके अलावा प्रतापगढ़ से हेमंत मीणा और सागवाड़ा से शंकरलाल डेचा पहली बार चुनाव जीते हैं। उदयपुर संभाग में टीएसपी क्षेत्र से झाड़ोल से बाबूलाल खराड़ी और सलूंबर से अमृतलाल मीणा भी शामिल हैं। प्रतापगढ़ से भाजपा विधायक हेमंत मीणा भी पहली बार चुनाव जीते हैं। जो पूर्व मंत्री नंदलाल मीणा के पुत्र हैं। हेमंत मीणा ने 2018 में भी विधानसभा चुनाव लड़ा और हार ह गए थे। अनुभव नहीं होने के चलते मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की संभावना कम है। और माना गया कि यहां से संभाग की 11 सीटों को साधा गया। यही कारण है कि भाजपा यहां से शंकरलाल डेचा को मंत्रिमंडल में मिला। विधानसभा चुनाव में जिले की चार सीटों पर जीती। इसके अलावा डूंगरपुर सीट पर कांग्रेस ने रिपीट किया। इस हिसाब से भाजपा लोकसभा को ध्यान टीएसपी (उदयपुर संभाग) में अमृतलाल और बाबूलाल में टक्कर खास बात यह है कि बांसवाड़ा संभाग के अलावा उदयपुर संभाग के टीएसपी एरिया की बात करें तो वहां से भी एक मंत्री बनना लगभग तय है। झाड़ोल से भाजपा विधायक बाबूलाल खराड़ी की दावेदारी मजबूत है। सलूंबर से विधायक अमृतलाल मीणा भी रेस में हैं।

https://banswaranews.in/wp-content/uploads/2022/10/1.512-new-1-scaled.jpg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here