गैंगस्टर अतीक अहमद और उनके भाई अशरफ अहमद की प्रयागराज में मेडिकल के लिए ले जाते समय गोली मारकर हत्या कर दी गई।

0
167
atiq ahmed 7 1681579395
atiq ahmed 7 1681579395
blob:https://web.whatsapp.com/36c84f3a-b315-4bd0-96f4-ef3b180d1b66

BN बांसवाड़ा न्यूज़ – गैंगस्टर अतीक अहमद और उनके भाई अशरफ अहमद की प्रयागराज में मेडिकल के लिए ले जाते समय गोली मारकर हत्या कर दी गई।अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की शनिवार रात करीब साढ़े दस बजे गोली मारकर हत्या कर दी गई। दोनों को मेडिकल के लिए प्रयागराज के काल्विन अस्पताल ले जाया गया था, जहां तीन अज्ञात युवकों ने उन्हें गोली मार दी। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। हमलावरों के गले में आईडी कार्ड भी था, जिससे आशंका जताई जा रही है कि तीनों मीडियाकर्मी बनकर पब्लिक में आए थे। अशरफ और अतीक को गोली मारने के बाद हमलावरों ने हाथ खड़े कर मौके पर ही सरेंडर कर दिया। इस हत्याकांड के बाद यूपी में हाई अलर्ट जारी। खौफ को सीढ़ी बनाकर वह बन गया माफिया अतीक अहमद असद के बगल में ही दफानए जाएंगे अतीक और अशरफअतीक अहमद और उसके भाई अशरफ का शव प्रयागराज के कसारी-मसारी के कब्रिस्तान में दफन किया जाएगा। इसके लिए कब्र खोदने का काम शुरू हो गया है। इस कब्रिस्तान में ही अतीक के बेटे असद का शव दफनाया गया था।मीडियाकर्मी बनकर आए थे हमलावरअतीक और अशरफ पर हमला करने वाले तीनों हमलावर, मीडियाकर्मी बनकर आए थे। इनके नाम लवलेश तिवारी, सनी और अरुण मौर्य हैं। हमले के तुरंत बाद ही तीनों ने सरेंडर कर दिया। लवलेश बांदा, अरुण हमीरपुर और सनी कासगंज का रहने वाला है। कौन हैं अतीक-अशरफ को मारने वाले शूटर्स?लवलेश तिवारी के पिता बोले- हमारा उससे कोई वास्ता नहींगैंगस्टर से नेता बने अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ को गोली मारने वाले शूटर लवलेश तिवारी के पिता यज्ञ तिवारी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि हमें कोई जानकारी नहीं की वह वहां कैसे पहुंच गया और हमें इससे कोई मतलब नहीं है। यह प्रयागराज में कब से है हमें नहीं पता। यह आखिरी बार 7-8 दिन पहले आया था।अतीक की हत्या पर विपक्ष ने योगी सरकार को घेराअतीक और उसके भाई की हत्या पर भड़के विपक्षी नेता। पूर्व CM अखिलेश यादव ने कहा- राज्य में अपराधियों के हौसले बुलंद है। जब पुलिस के सुरक्षा घेरे के बीच सरेआम गोलीबारी करके किसी की हत्या की जा सकती है, तो आम जनता की सुरक्षा का क्या। वहीं, AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि दोनों की हत्या योगी के कानून व्यवस्था की नाकामी है। एनकाउंटर राज का जश्न मनाने वाले भी इस हत्या के जिम्मेदार हैं। वहीं, सीएम योगी ने जनता से अपील की है कि किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें। अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।अतीक के खिलाफ दर्ज हैं कितने मामले?माफिया अतीक अहमद के ऊपर चार दशक में हत्या, अपहरण, रंगदारी, लूट जैसे गंभीर अपराधों में 100 से अधिक मुकदमे थे। वहीं, उसके भाई अशरफ के ऊपर भी 53 मुकदमे थे। अतीक का बेटा उमर और अली भी कई मुकदमों में जेल में हैं। चार दशक तक अतीक क़ानून-व्यवस्था और न्यायिक प्रक्रिया पर भारी पड़ता रहा। कई मामलों में गवाह मुकर गए, तो कुछ मुकदमे अलग-अलग सरकारों में वापस हुए।

https://banswaranews.in/wp-content/uploads/2022/10/1.512-new-1-scaled.jpg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here